Poetrytadka.com

Shayari


jga diya teri pawjeb ne

सुला चुकी थी ये दुनिया ,

थपक-थपक के मुझे , 

जगा दिया तेरी पाजेब ने ,

छनक के मुझे , 

कोई बताये की मै इसका 

क्या इलाज करून , 

परेशां करता है ये दिल , 

धड़क-धड़क के मुझे

shayari shayari

shayari, Hindi Shayari, हिंदी शायरी, शायरी, हिन्दी शायरी 

shayari shayari

dil ko kabu

धडकनों को कुछ तो काबू में कर ऐ दिल 

अभी तो पलके झुकाई है मुश्कुराना बाकि है 

ye saal bhi aakhir beet gaya

कोई हार गया कोई जीत गया, 

ये साल भी आखिर बीत गया

dil tod diya ye kah ke

किसी ने आज ये कहके दिल तोड़ दिया 

की लोग तेरे नहीं तेरे शायरी के दीवाने है 

dil tod diya ye kah ke
All Next