Poetrytadka.com

Khwahish Shayari

Dil ki khawahish

कहाँ पूरी होती हैं दिल 💝 की सारी ख्वाहिशें, 

की.बारिश भी हो.यार भी हो और पास भी हो

Dil ki khawahish

Teri khwahish kar li

तेरी ख्वाहिश कर ली

तो कौन सा गुनाह कर लिया.

लोग तो अपनी इबादत में

पूरी कायनात मांग लेते है.

Shayad ummeeden hoti hain

शायद उम्मीदें ही होती हैं ग़म की वजह,,,,

वरना ख़्वाहिशें रखना कोई गुनाह नही!😊

Sirf tum aur tum

ख्वाहिश बस इतनी सी

चाहिए एक छोटा सा पल

साथ तुम और सिर्फ तुम

Sirf khwab hota

सिर्फ ख्वाब होते तो क्या बात होती.😊

तुम तो ख्वाहिश बन बैठे, 

वो भी बेइंतहा..... ❤

New Next